Dear MySarkariResult Users Always Type ".in" after MySarkariResult : - "MySarkariResult.in"

पेपर लीक मामले के तीन महीने बाद SSC के चैयरमैन को केंद्र ने दे दिया ये बड़ा ईनाम

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की कंबाइड ग्रेजुएट लेबल परीक्षा में पेपर लीक मामले के तीन महीने बाद केंद्र ने एसएससी के चेयरमैन अशीम खुराना को एक साल का सेवा विस्तार दे दिया है.
साथ ही सरकार ने एसएससी के नियमों में बदलाव कर इस पद के लिए आयु सीमा बढ़ाने बढ़ाने का फैसला लिया है.
गौरतलब है कि 17 से 22 फरवरी 2018 तक हुए कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल परीक्षा की दूसरे चरण की ऑनलाइन परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर लीक हो गए थे.

खुराना ने 62 वर्ष की उम्र में इस साल 12 मई को अपना कार्यकाल पूरा कर लिया था


लेकिन इसके दो दिन बाद कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने एक नोट जारी किया जिसमें कहा गया कि खुराना को एसएससी चेयरमैन के रूप में एक साल का सेवा विस्तार दिया जाता है.

साथ ही सरकार ने इस नोट में एसएससी नियमों में संशोधन को मंजूरी दे दी है. अब एसएससी के चेयरमैन पद के लिए 65 साल की ऊपरी आयु सीमा तय की गई है. गौरतलब है कि इस साल 17 से 22 फरवरी तक आयोजित एसएससी की स्नातक स्तर परीक्षा में कथित पेपर लीक के खिलाफ व्यापक विरोध प्रदर्शन हुए थे. जिसके बाद सीबीआई को इस मामले में जांच के आदेश दिए गए थे.
इस मामले में देशभर के विभिन्न छात्र संगठनों ने आरोप लगाए थे कि पेपर लीक में एसएससी के अधिकारी और ऑनलाइन परीक्षा संचालन करने वाली एजेंसी भी शामिल है.
एसएससी ने इन आरोपों को शुरू में ख़ारिज किया था और प्रदर्शनकारियों से सबूत पेश करने को कहा था.

सरकारी नौकरी की परीक्षा में ऐसे होती है हाईटेक नकल

बता दें कि नकल गिरोह कम्प्यूटर सिस्टम हैक कर अभ्यर्थियों को अन्य दूसरे स्थानों के माध्यम से पेपर हल करते थे। इतना ही नहीं थंब प्रिंट के क्लोन बनाकर बायोमीट्रिक मशीन को ठेंगा दिखाते हुए असली की जगह फर्जी अभ्यर्थियों के पेपर हल करने भेजते थे।
   कैसे करते थे नकल 

बताया जाता है कि आरोपियों ने बीटेक किया हुआ। बिहार निवासी और अन्य एमबीबीएस में अध्ययन करने वाले योगेश , हीरालाल और सरस्वती इंफोटेक का कर्मचारी रविकरण है। हरियाणा में सरस्वती इंफोटेक में काम करता है। आरोपी अतुल ने इसी वर्ष दिल्ली में नीट परीक्षा में नकल करवाई थी।
योगेश और संदीप बिहार के रहने वाले थे ये दोनों जयपुर आये थे। और भी इनके साथ कई आरोपी काम करते थे जांच में सामने आया कि आरोपी वर्ष 2011 से रेलवे, एसएससी, नेवी सहित राजस्थान, हरियाणा, व दिल्ली में होने वाले ऑनलाइन एग्जाम में इसी तरह से अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर पेपर हल करते थे। आरोपियों ने खुलासा किया कि उन्होंने दिल्ली नीट में 7 डॉक्टरों का पेपर हल किया था।



No comments:

Post a Comment

"Candidate can leave your respective comment in comment box. Candidate can share any Query.
Our Panel will Assist you." - www.MySarkariResult.in