Dear MySarkariResult Users Always Type ".in" after MySarkariResult : - "MySarkariResult.in"

रेलवे में नई भर्ती में लगेगा लंबा वक्त, 90 हजार पदों के लिए ढाई करोड़़ आवेदन से बढ़ी परेशानी »» माय सरकारी रिजल्ट  2018 ««

रेलवे भर्ती परीक्षा अटकी, 90 हजार पदों के लिए ढाई करोड़ आवेदन
रेलवे में नई भर्ती में लगेगा लंबा वक्त, 90 हजार पदों के लिए ढाई करोड़़ आवेदन से बढ़ी परेशानी »» माय सरकारी रिजल्ट  2018 ««
कुछ माह पहले रेल मंत्रालय ने रेलवे में विभिन्न पदों के लिए 90 हजार से पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मंगाए थे, उस भर्ती प्रक्रिया में अभी और कई माह लग सकते हैं, क्योंकि इन 90 हजार पदों के लिए करोड़ों आवेदन आये हैं, जिन्हें देखकर रेलवे बोर्ड के पसीने छूट रहे हैं. माना जा रहा है कि भर्ती परीक्षाएं इस माह के अंत तक ही संभव हो पाएंगे!

देश में बढ़ती बेरोजगारी का आलम यह है कि 90 हजार पदों के लिये बीएससी, बीए, एमएससी, बीटेक, एमटेक और पीएचडी डिग्री धारियों समेत ढाई करोड़ से ज्यादा आवेदकों ने आवेदन किया है, जबकि इन पदों के लिये निर्धारित योग्यता हाईस्कूल हैं।

ग्रुप सी और डी की नौकरियों के लिए छेड़े गए रेलवे के मेगा भर्ती अभियान ने क्षेत्रीय भर्ती बोर्डों की नींद हराम कर दी है। रेलवे की नब्बे हजार नौकरियों के लिए ढाई करोड़ से ज्यादा बेरोजगारों ने आवेदन किया है।
देश भर में 21 रेलवे भर्ती बोर्ड्स द्वारा 90 हजार पदों के लिये निकाली गई भर्ती के लिए देश के ढाई करोड़ से ज्यादा बेरोजगारों ने आवेदन किया है.
बोर्ड को इन भर्तियों के लिये परीक्षा के आयोजन से पहले अभी इतनी अधिक संख्या में आए आवेदनों की छंटनी की चिंता सता रही है. इन पदों के लिए परीक्षाओं का आयोजन कब, कहां और कैसे होगा, इस पर रेलवे बोर्ड बाद में फैसला करेंगे...
इतनी बड़ी संख्या में आए आवेदनों में से सही आवेदकों का चयन करने में ही भर्ती बोर्डों के हाथ-पांव ढीले हो गए है। ऐसे में इनके लिए परीक्षाओं का आयोजन कब और कैसे होगा, यह सोचकर ही उनके पसीने छूटे जा रहे हैं और उन्होंने रेलवे बोर्ड से तैयारियों के लिए और समय मांगा है।
दो महीने बीत जाने के बावजूद अभी मूल्यांकन की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। ऐसे में भर्ती बोर्डों की समझ में नहीं आ रहा है कि इनकी परीक्षा कब और कैसे कराई जाएगी तथा परीक्षा केंद्रों का इंतजाम किस तरह किया जाएगा।

मेगा भर्ती अभियान के तहत रेलवे ने इसी साल फरवरी में ग्रुप सी लेवल-1 (ग्रुप-डी) तथा ग्रुप सी लेवल-2 के लगभग 90 हजार पदों पर भर्ती के लिए इच्छुक उम्मीदवारों से आवेदन मांगे थे। जवाब में ढाई करोड़ से ज्यादा आवेदकों ने आवेदन किया है। इनमें हाईस्कूल और आइटीआइ की निर्धारित योग्यता वाले आवेदकों के बजाय बीएसएसी, एमएससी, बीटेक, एमटेक तथा पीएचडी डिग्रीधारी आवेदकों की संख्या ज्यादा हैं।
फरवरी मार्च में बुलाया गए थे Application
इन पदों पर होना है भर्ती
ग्रुप सी लेवल-1 अर्थात ग्रुप-डी में ट्रैक मेंटेनर, प्वाइंट्समैन, हेल्पर, गेटमैन, पोर्टर जैसे पद आते हैं. इनमें 62907 पदों पर भर्ती के लिए 10 फरवरी को विज्ञापन निकाला गया था. वहीं ग्रुप सी लेवल-2 में असिस्टेंट लोको पायलट, क्रेन ड्राइवर, फिटर और ब्लैकस्मिथ के पद आते हैं. इस ग्रुप के 26502 पदों पर भर्ती के लिए  फरवरी में आवेदन मांगे गए थे. दोनों ग्रुप में कुल मिलाकर 89409 रिक्त पदों के आवेदन मंगाए गये थे.

ग्रुप सी लेवल-1 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 12 मार्च रखी गई थी, जबकि ग्रुप सी लेवल-2 के लिए अंतिम तिथि 5 मार्च थी, लेकिन रेलवे यूनियनों की मांग के मद्देनजर आवेदकों की आयु और शैक्षिक योग्यता में ढील देते हुये आवेदन की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया गया था.

यह होगी भर्ती प्रक्रिया

भारतीय रेलवे के ग्रुप सी और डी के पदों पर भर्ती 21 क्षेत्रीय भर्ती बोर्ड्स के माध्यम से होती है. ग्रुप डी के पदों के लिये पहले आवेदनों का मूल्यांकन किया जाता है और उपयुक्त पाए गए आवेदकों का दो चरणों में परीक्षा लिया जाता है. पहला चरण लिखित परीक्षा का होता है और दूसरा चरण में शारीरिक परीक्षा का होता है, लेकिन इस बार बड़े पैमाने पर आए आवेदनों की वजह से रेलवे भर्ती बोर्डों की हालत मूल्यांकन में ही खराब हो गयी है. इन पदों के लिये परीक्षाएं कब और कैसे आयोजित होंगी, अभी यह तय नहीं किया गया है. उल्लेखनीय है कि पहले मई 2018 तक परीक्षाओं के आयोजन की योजना थी और इनके परिणाम जुलाई में आने थे, लेकिन आवेदकों की ज्यादा संख्या को देखते हुए यह परीक्षा कई माह और टल गई है.

ग्रुप सी लेवल-2 में असिस्टेंट लोको पायलट, फिटर, क्रेन ड्राइवर और ब्लैकस्मिथ के पद आते हैं। इस ग्रुप 26,502 पदों पर भर्ती के लिए फरवरी में ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। 

दूसरी ओर ग्रुप सी लेवल-1 अर्थात ग्रुप-डी में, जिसमें ट्रैक मेंटेनर, प्वाइंट्समैन, हेल्पर, गेटमैन, पोर्टर जैसे पद आते हैं इनमें कुल 62,907 पदों पर भर्ती के लिए 10 फरवरी को विज्ञापन निकाला गया था। इस तरह दोनों ग्रुपों में कुल मिलाकर 89,409 रिक्त पदों के लिए अधिसूचनाएं जारी की गई थीं। शुरू में ग्रुप सी लेवल-2 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 5 मार्च, जबकि ग्रुप सी लेवल-1 के लिए 12 मार्च रखी गई थी। लेकिन बाद में राजनीतिक दबाव तथा यूनियनों की मांग के मद्देनजर न केवल आवेदकों की आयु एवं शैक्षिक योग्यता में ढील दे दी गई, बल्कि आवेदन भेजने की अंतिम तिथि को भी बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया गया था।



रेलवे में ग्रुप सी और डी के पदों की भर्ती देश भर में फैले 21 क्षेत्रीय भर्ती बोर्डों के माध्यम से होती है। ग्रुप डी की भर्ती प्रक्रिया के तहत पहले आवेदनों का मूल्यांकन किया जाता है और उसके बाद उपयुक्त पाए गए आवेदकों को दो चरणों में परीक्षा के लिए आमंत्रित किया जाता है। पहला चरण लिखित परीक्षा का होता है। जबकि दूसरे चरण में शारीरिक फिटनेस का आकलन किया जाता है। लेकिन भारी भीड़ के कारण भर्ती बोर्डों को मूल्यांकन के चरण में ही आफत का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इनकी परीक्षाएं कब और किस तरह संपन्न होंगी, यह प्रश्न सभी को परेशान कर रहा है। पहले मई तक परीक्षाओं के आयोजन और जुलाई तक परिणाम घोषित करने की योजना थी। मगर अब यह असंभव लग रहा है।
पुरानी परीक्षा हुई नहीं, नई भर्ती का ऐलान कर दिया


विडंबना यह है कि इस स्थिति के बावजूद रेल मंत्रालय ने रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) तथा रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) में 9,739 रिक्तियों पर भर्ती का भी अलग से ऐलान कर दिया है। इसके तहत 8,619 कांस्टेबलों और 1,120 इंस्पेक्टरों के पदों के लिए अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे गए हैं। रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी ने स्थिति को विकट बताते हुए कहा कि परीक्षाओं के आयोजन के लिए दो एजेंसियों की सेवाएं लेने पर विचार हो रहा है। लेकिन अभी तक उनके नाम पर सहमति नहीं बन सकी है। जिम्मेदार अधिकारी इस विषय में बात करने से कतरा रहे हैं।

इसे पढ़े :- RRB 2018 रेलवे में निकली 9 हजार पदों पर बंपर वैकेंसी, 10वीं पास करें अप्लाई

No comments:

Post a Comment

"Candidate can leave your respective comment in comment box. Candidate can share any Query.
Our Panel will Assist you." - www.MySarkariResult.in