Dear MySarkariResult Users Always Type ".in" after MySarkariResult : - "MySarkariResult.in"

Education Loan Process – शिक्षा ऋण कैसे मिलेगा, जानिए सब कुछ

Education Loan Process – शिक्षा ऋण कैसे मिलेगा, जानिए सब कुछ

Important Points

Education Loan के लिए आवेदक का भारतीय नागरिक होना आवश्यक हैं|
एजुकेशन लोन सामान्यत: भारत में Higher Studies के लिए 10 लाख रूपये और विदेश में पढने के लिए 20 लाख रूपये तक मिलता हैं|
भारत में Education Loan की ब्याज दरें (Interest Rates) विभिन्न बैंकों में 9.30% से 13% के बीच रहती हैं|
एजुकेशन लोन पर चुकाये गए Interest (ब्याज) की Income Tax की धारा 80E में छूट मिलती हैं|
भारत में जब से शिक्षा का अधिकार (right to education) मौलिक अधिकार बना दिया गया है, हर बच्चा और उसके परिवार के लोग अच्छी शिक्षा के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। पिछले कुछ वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में तकनीकी विकास ने शिक्षा प्राप्त करने की लागत में भी वृद्धि कर दी है। Education क्षेत्र में बढ़ती फ़ीसों ने हर व्यक्ति के लिए शिक्षा प्राप्त करना अब इतना आसान नहीं रह गया है। समाज में कुछ लोग फिर भी बचत के विभिन्न साधन जैसे Mutual Fund , फिक्स्ड़ डिपोजिट्स आदि का सहारा लेते हैं। लेकिन उसके बाद भी अच्छी Education कुछ लोगों के लिए एक दूर का सपना प्रतीत होती है। इसके लिए विभिन्न भारतीय बैंक जैसे State Bank, ICICI Bank, Punjab National Bank आदि शिक्षा ऋण (Education Loan) प्रदान करते हैं । 

इस लेख में हम एजुकेशन लोन या शिक्षा ऋण के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे:-

Education Loan
  •  एजुकेशन लोन की पूरी जानकारी
  • Eligibility – कौन ले सकता है शिक्षा ऋण
भारतीय नागरिकता प्राप्त कोई भी वह वयस्क जो उच्च शिक्षा (higher education) के इच्छुक होते हैं, वो एजुकेशन लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। शिक्षा ऋण के लिए संबन्धित छात्र के अलावा उनके माता-पिता, भाई-बहन या पति/पत्नी सह-आवेदक के रूप में आवेदन कर सकते हैं।
एजुकेशन लोन के लिए सामान्यत: वे ही छात्र योग्य होते हैं जिन्होंने भारत के अंदर या विदेश में उच्च शिक्षा संस्थान में प्रवेश निश्चित रूप से ले लिया हो।
बैंक ऋण लेने वाले की रिपेमेंट करने की क्षमता की भी जांच करते हैं और लोन उसे ही देते हैं जो इसका पुनर्भुगतान कर सकें।
एजुकेशन लोन को या तो छात्र के अभिभावक या फिर वो स्वयं पढ़ाई पूरी होने के बाद बैक को लौटा सकते हैं। इसके अलावा बैंक ऋण देने से पहले एक गारंटर की भी शर्त रखते हैं| यह गारंटर, ऋण लेने वाले का करीबी रिश्तेदार या फिर अभिभावक हो सकते हैं।

Education Loan: Types of Courses

भारतीय बैंक, छात्रों को भारत या भारत से बाहर पढ़ने (abroad studies) के लिए शिक्षा ऋण दे सकता है। भारतीय सरकार ने छात्रों की बारहवीं कक्षा की पढ़ाई से लेकर उससे आगे तक की स्नातक, स्नातकोत्तर , पी.एच.डी., इंजीनियरिंग, मेडिकल, कृषि, लॉं, डेंटल, प्रबंधन, कंप्यूटर विषयों में पढ़ाई के लिए शिक्षा ऋण की व्यवस्था की है। इसके अलावा यदि छात्र मान्यता प्राप्त शिक्षा संस्थान से कंप्यूटर कोर्स, आईसीडब्लूए, सीए आदि का अध्ययन भी कर रहे हैं तो वो भी शिक्षा ऋण का आवेदन कर सकते हैं। विदेश में शिक्षा लेने वाले इच्छुक छात्र यदि चाहें तो उन्हें भी एजुकेशन लोन मिल सकता है। इसके लिए आपको जानी-मानी और मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी प्रकार का प्रोफेशनल या टेक्निकल कोर्स के अलावा, स्नातक, स्नातकोत्तर, एमसीए, एमबीए, एमएस आदि में प्रवेश लेना होगा।


Covered Expenses – शिक्षा ऋण किन किन खर्चों के लिए मिलता हैं

बैंक छात्रों को शिक्षा ऋण के अंतर्गत वो सारे खर्चे पूरे करने के लिए राशि देते हैं जो उनके अध्ययन के लिए जरूरी होते हैं। इन खर्चों हर प्रकार की फीस जैसे, Tution, Hostel, Exam, laboratory, Library, Uniform आदि शामिल होते हैं। इसके अलावा छात्र किताबें, ईक्विपमेंट और इन्स्ट्रूमेंट्स का खर्चा भी शिक्षा ऋण से पूरा कर सकते हैं। अगर छात्र ने विदेश के संस्थान में प्रवेश लिया है तो पढ़ाई के लिए जाने का खर्चा, पढ़ाई के दौरान करने वाले स्टडी टूर, प्रोजेक्ट वर्क और थीसिस आदि पर होने वाला खर्चा भी इस लोन से चुकाया जा सकता है। इस प्रकार कहा जा सकता है की पढ़ाई से संबन्धित हर प्रकार का व्यय शिक्षा ऋण के माध्यम से चुकाया जा सकता है।


Loan Amount – शिक्षा ऋण की राशि:

आजकल बैंक शिक्षा ऋण के मामले में काफी उदार हो गए हैं और शिक्षा खर्च का 100% तक लोन मिल सकता हैं। नए नियमों के अनुसार यदि आपने देश के ही किसी संस्थान में एजुकेशन लेने का निर्णय लिया है तो आप वहाँ की शिक्षा के लिए चार लाख रुपए तक का ऋण बहुत आसानी से ले सकते हैं। यदि यह राशि 4 लाख से अधिक है तो छात्र को कुल शिक्षा खर्च या जरूरी राशि (required money) 5-15% तक स्वंय इंतजाम करना होता हैं। यह राशि (Margine Money) घरेलू कोर्स के संबंध में 5% है और विदेशी कोर्स के संबंध में 15% होती हैं।


How to Apply For Education Loan – कैसे लें शिक्षा ऋण:

किसी भी प्रकार का ऋण लेने के लिए कुछ जरूरी कागजातों को पूरा करना पड़ता है। इसी प्रकार शिक्षा ऋण लेने के लिए आपको कुछ जरूरी Documents बैंक में जमा करने होते हैं। शिक्षा ऋण के लिए बैंक द्वारा लिए जाने वाले डाक्यूमेंट्स में निम्न प्रमुख हैं:
  • Documents Required For Education Loan
  • . एडमिशन लिए जाने का प्रमाणपत्र;
  • . स्टडी कोर्स का प्रोस्पेक्ट्स;
  • . ऋण का आवेदन फॉर्म;
  • . आवेदक की पूरी जानकारी जिसमें उसके पते, पहचान और हस्ताक्षर आदि के प्रमाण हों;
  • . गारंटर की आय का प्रमाण पत्र;
  • . विदेश जा रहे हों तो यूनिवर्सिटी का पत्र;
  • . विदेशी कोर्स के संबंध में वीज़ा और ट्रेवल संबंधी कागजात;
  • . ऋण आवेदन में दिखाये गए खर्चों की विस्तृत सूची,
  • . ज़रूरी फोटोग्राफ
इसके अलावा यदि आप बैंक से किसी प्रकार की छूट ले रहे हैं जैसे कुछ बैंक लड़कियों को ब्याज दर में छूट देता है या फिर लोन देने में प्री पेमेंट का चार्ज नहीं लाते हैं तो आपको इस संबंध में आवश्यक प्रमाण पत्र देने होंगे।
ऋण का आवेदन करते समय यह देख लेना बहुत जरूरी है की जहां आपने प्रवेश लिया हो वो संस्थान मान्यता प्राप्त हो, नहीं तो आपका ऋण का आवेदन नामंज़ूर हो सकता है। यही बात उस कोर्स के लिए भी लागू होती है। संस्थान के साथ ही कोर्स भी यूजीसी से मान्यता प्राप्त होना चाहिए।
कुछ बैंक एजुकेशन लोन के आवेदन के साथ ही Bank Guarantor की Bank Statement, Income Tax Return की कॉपी के साथ ही छात्र की एसएससी, एचएससी और डिग्री की मार्क स्टेटमेंट भी लेते हैं। यदि आपने किसी स्कोलरशिप का सहारा लिया है तो इसके लेटर की कॉपी भी ऋण आवेदन के साथ लगानी पड़ सकती है।


Bank Security – शिक्षा ऋण के लिए बैंक सुरक्षा:
बैंक ऋण देने से पहले इसके पुनर्भुगतान (Loan Repayment) की व्यवस्था कर लेते हैं और लोन केवल उसी व्यक्ति को मिलता हैं जो इसके Repayment की क्षमता रखते हैं। जो छात्र चार लाख रुपए तक का ऋण लेते हैं वो इसे अपने अभिभावकों के साथ संयुक्त रूप से ले सकते हैं और इसमें किसी प्रकार की सिक्यूरिटी की अलग से ज़रूरत नहीं होती है। यदि यह ऋण राशि 4 से 6.5 लाख रुपए के बीच है तो एक तीसरे व्यक्ति की गारंटर के रूप में जरूरत हो सकती है। लेकिन यही यह ऋण राशि 6.5 से अधिक है तो बैक सिक्यूरिटी के रूप में कोई संपत्ति बंधक (collateral) के रूप में रखने को कह सकते हैं। आप इसके लिए प्रॉपर्टी, Fixed Deposits, एलआईसी के बॉन्ड आदि का भी उपयोग कर सकते हैं।

Interest Rates – एजुकेशन लोन की ब्याज दरें
छात्रों को दिये जाने वाला Education Loan किसी भी अन्य ऋण जैसे Personal Loan, Business Loan की तुलना में थोड़ा सस्ता होता है। हालांकि इन ऋणों के ब्याज की दरें, लिए जाने वाले ऋण पर निर्भर करतीं हैं। आजकल बैंक 9.7 से 12.6 % की Interest Rates से शिक्षा ऋण उपलब्ध कर रहीं हैं। अधिकतर यह ऋण 15 वर्ष की अवधि के होते हैं। ब्याज का निर्धारण फिक्स्ड या फ्लोटिंग दरों के आधार पर किया जा सकता है।
Repayment of Laon – ऋण का भुगतान:
Loan के Repayment के लिए लिए बैंक आपको Education Course के खत्म होने तक का समय देता है और उसके बाद ही या तो एक साल बाद या फिर नौकरी लगने के छह महीने बाद ऋण की किस्त को शुरू कर सकते हैं।

Income Tax Exemption For Interest – आयकर में छूट

अन्य ऋणों जैसे Home Loan की भांति शिक्षा ऋण पर भी आयकर में छूट का विकल्प है। आयकर की धारा 80 E के अनुसार, एजुकेशन लोन पर दिये गए Interest को आप अपनी करयोग्य आय (Taxable) में से घटा सकते हैं। यह प्रावधान पहले साल से लेकर आठ वर्षों तक जारी रहता है। यह छूट उसी व्यक्ति को मिलती है जिसने इस ऋण का आवेदन किया हो। यदि शिक्षा ऋण छात्र ने अपने नाम से लिया है तो वह ऋण वापसी की पहली किस्त के अदा करने के साथ ही यह छूट भी ले सकता है। लेकिन यदि आवेदक छात्र के अभिभावक हैं तो यह लाभ छात्र को नहीं मिलेगा।
अंत में :
सुनहरे भविष्य के निर्माण में शिक्षा ऋण बहुत महत्व रखता है। आपके व्यावहारिक जीवन का यह पहला ऋण अनुभव होता है, इसलिए भविष्य में लिए जाने वाले ऋण के लिए शिक्षा ऋण का समय से और पूरा भुगतान किया जाना बहुत जरूरी है।

No comments:

Post a Comment

"Candidate can leave your respective comment in comment box. Candidate can share any Query.
Our Panel will Assist you." - www.MySarkariResult.in