Dear MySarkariResult Users Always Type ".in" after MySarkariResult : - "MySarkariResult.in"

प्रकाश जावड़ेकर ने किया एलान, अब 4 वर्ष का होगा B.Ed कोर्स

सरकार अगले वर्ष से बैचलर इन शिक्षा (बीएड) के कोर्स को चार वर्ष का करने जा रही है ताकि इससे शिक्षण की गुणवत्ता में सुधार हो सके. यह बात मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को कहीं.

दो दिनों तक चली कांफ्रेंस के दूसरे दिन केंद्रीय विद्यालय व जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रधानाचार्यों को संबोधित करते हुए जावड़ेकर ने कहा, ‘हम अगले वर्ष से चार वर्षों को इंटिग्रेडिट कोर्स लांच करने वाले हैं. पढ़ाई की गुणवत्ता नीचे गिर गई है क्योंकि यह उम्मीदवारों के लिए आखिरी विकल्प होता है. इसे पहला विकल्प होना चाहिए. यह प्रोफेशनल पसंद होनी चाहिए न कि बची हुई.‘

B.Ed पर JAVADEKAR ने कही ये बात..
टीचिंग और टीचर्स में पढा़ने की क्वालिटी को बढ़ाने के लिए सेंट्रल गवर्नमेंट अगले साल से B.Ed यानी एजुकेशन में ग्रैजुएशन कोर्स चार साल का करेगी. इस कोर्स को कैंडिडेट्स 12 th क्लास के बाद ही ज्वाइन कर सकेंगे. इससे फायदा होगा कि कैंडिडेट्स का एक साल बचेगा. अभी यह सुविधा है कि ग्रैजुएशन करने के बाद ही दो साल का B.Ed किया जा सकता है.
12वीं कक्षा के बाद ही ज्वाइन कर सकेंगे B.Ed
मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का कहना है कि टीचर्स में स्टूडेंट्स को पढ़ाने की क्वालिटी गिरती जा रही है. अब टीचिंग लाइन में वे लोग ही आते हैं जिनके पास अन्य फिल्ड में करियर बनाने के मौके खत्म हो चुके होते हैं.
उन्होंने कहा कि सरकार ने अगले साल से चार साल के बीएड कोर्स को शुरू करने का फैसला लिया है. पढ़ाने का काम लोगों की पहली पसंद होना चाहिए. टीचिंग जॅाब ऐसा विकल्प न हो जो कुछ न मिलने पर अपनाया गया काम लगे.
जावड़ेकर दो दिवसीय सम्मेलन के समापन पर केंद्रीय विद्यालय और जवाहर नवोदय विद्यालयों के प्रधानाचार्यो को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने बताया कि बीएड तीन माध्यमों बीए, बीकॉम और बीएससी में किया जाएगा. टीचर्स की टीचिंग के लिए रिस्पॅान्सिबल संस्था नेशनल काउंसिल फार टीचर्स एजुकेशन ने इसके लिए सिलेबस में बदलाव किया है.
पहले 1 साल का होता था B.Ed
पहले B.Ed सिर्फ एक साल की हुआ करता था. कुछ समय पहले इसे 2 साल का कर दिया गया था. कई कैंडिडेट्स को इससे परेशानी थी. अब इस कोर्स के चार साल के हो जाने से सिर्फ ग्रैजुएशन कर चुके या आखिरी साल में पहुंचे उन कैंडिडेट्स को अधिक परेशानी हुई है, जो अगले साल B.Ed में एडमीशन लेने की तैयारी कर रहे थे.
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 15-20 राज्य नो डिटेंशन नीति के बाद कक्षा 5 से आठ तक के लिए परीक्षा कराएंगे. उन्होंने कहा कि फेल न करने की नीति के चलते दस सालों में शिक्षा का स्तर गिरा है. लेकिन अब 15-20 राज्य अगले साल से परीक्षा कराना शुरू कर देंगे.

लागू होने पर यह कोर्स उम्मीदवारों का एक वर्ष बचाएगा चूंकि वह सीधे 12वीं कक्षा के बाद इसमें दाखिला ले सकते हैं. वर्तमान में उन्हें पहले स्नातक की पढ़ाई करनी पड़ती है व फिर दो वर्ष का बीएड कोर्स. मंत्री ने बोला कि 15-20 राज्य कक्षा 5-8 के लिए इम्तिहान का आयोजन कर रहे हैं. जनवरी से इन कक्षाओं में अब एजुकेशन का अधिकार अधिनियम के तहत नो डिटेंशन पॉलिसी लागू है. बीएड कोर्स, एक वर्ष से ज्यादा वर्ष के लिए तीन स्ट्रीम- बीए, बीकॉम व बीएससी में किया जाएगा.

No comments:

Post a Comment

"Candidate can leave your respective comment in comment box. Candidate can share any Query.
Our Panel will Assist you." - www.MySarkariResult.in