Dear MySarkariResult Users Always Type ".in" after MySarkariResult : - "MySarkariResult.in"

NEFT और RTGS पर चार्ज नहीं

रिजर्व बैंक ने जहां NEFT और RTGS चार्ज खत्म कर दिया है, वहीं SBI से होम लोन लेने वाले ग्राहकों को रेपो रेट कम होने का लाभ मिल सकता है. इसके साथ ही बेसिक अकाउंट रखने वाले बैंक ग्राहकों को अब पहले से अधिक सुविधाएं मिलेंगी.

देश में डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिहाज से होने NEFT और RTGS चार्ज खत्म करना बड़ा कदम है, इससे ऑनलाइन ट्रांजेक्शन को बढ़ावा मिलेगा.

NEFT और RTGS पर चार्ज नहीं

बैंकिंग नियामक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आरटीजीएस और एनईएफटी के जरिए पैसे ट्रांसफर करने पर लगने वाले चार्ज को 1 जुलाई से खत्म कर दिया है. रीयल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम (RTGS) के जरिये लोग बड़ी रकम एक खाते से दूसरे खाते में तुरंत ट्रांसफर करते हैं.

NEFT के जरिये दो लाख रुपये तक आप तुरंत दूसरों के बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकते हैं. डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए रिजर्व बैंक ने इस चार्ज को खत्म कर दिया है. देश का सबसे बड़ा भारतीय स्टेट बैंक NEFT के जरिए पैसे ट्रांसफर के लिए एक रुपये से 5 रुपये तक शुल्क लेता है. RTGS के जरिये रकम ट्रांसफर करने के लिए SBI 5 से 50 रुपये तक का शुल्क लेता है.

SBI का होम लोन अब रेपो रेट से जुड़ा
देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 1 जुलाई से होम लोन की ब्याज दरों को रेपो रेट से जोड़ दिया है. अब SBI होम लोन की ब्याज दर पूरी तरह रेपो रेट पर आधारित हो जाएगी.

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी या एमपीसी) साल में छह बार यानी हर दूसरे महीने नीतिगत ब्याज दरों की समीक्षा करती है जिनमें रेपो रेट भी शामिल है. अगर हर द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो रेट में बदलाव हुआ तो SBI के होम लोन की ब्याज दरें भी उसी के मुताबिक बदलेंगी

No comments:

Post a Comment

"Candidate can leave your respective comment in comment box. Candidate can share any Query.
Our Panel will Assist you." - www.MySarkariResult.in